» » समय से पहले होने वाले स्खलन के उपचार के विकल्प

समय से पहले होने वाले स्खलन के उपचार के विकल्प

29 August 2018, Wednesday
179
0
समय से पहले होने वाले स्खलन के उपचार के लिए कुछ विकल्प उपलब्ध हैं - लेकिन कौन सा विकल्प आपके लिए सबसे अच्छा होगासमय से पूर्व होने वाले स्खलन के इलाज के लिए यहाँ मैं कुछ बेहतरीन विकल्पों की सूची दे रहा हूँ.

शीघ्र स्खलन को रोकने वाली गोलियाँ

शीघ्र स्खलन का इलाज करने में गोलियां सबसे लोकप्रिय हैं, क्योंकि जब भी आप सेक्स करना चाहते हैं, यह उस समय काम करता है - आपको किसी स्प्रे या क्रीम का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं होती है जिससे उनका असर होने से पहले ही आपका "मूड" ख़राब हो जाता है.

उनका इस्तेमाल कैसे करें?

गोलियों को (१-३, बोतल / बॉक्स के पीछे दिए गए निर्देशों को पढ़ें) हर दिन एक गिलास पानी के साथ लें, बस इतने से ही आपका कार्य सिद्ध हो जायेगा.
शीघ्र स्खलन को रोकने वाली गोलियों के फ़ायदे / नुकसान
फायदे:
  • जब भी आपका मूड हो ये तुरंत काम करती हैं.
  • इनकी सफलता दर बहुत अधिक होती है.
  • लंबे समय तक कड़ेपन को बरक़रार रखती हैं.
  • कामेच्छा में वृद्धि.
नुकसान:
  • यह विकल्प थोड़ा महंगा होता है.

शीघ्र स्खलन स्प्रे

शीघ्र स्खलन के इलाज़ में स्प्रे एक और बहुत ही लोकप्रिय उपचार है. स्प्रे की बोतलें छोटी होती हैं और आपकी जेब में आसानी से आ जाती हैं और जब आपको इसकी आवश्यकता होती है तुरंत ही आप इनका प्रयोग कर सकते हैं.
मैं स्प्रे का उपयोग कैसे करूं?
  • अपने लिंग पर १ से ३ बार स्प्रे करें (स्प्रे की संख्या आपके लिंग की संवेदनशीलता पर निर्भर करती है, पहली बार १ स्प्रे से शुरुआत करें).
  • कुछ मिनट प्रतीक्षा करें. अब आप लंबे समय तक चलने वाले अद्भुत सेक्स के लिए तैयार हैं.
शीघ्र स्खलन स्प्रे के फ़ायदे नुकसान
फ़ायदे:
  • बहुत अच्छी सफलता दर.
  • लंबे समय तक चलने वाला कड़ापन.
  • छोटा और आसान
नुकसान:
  • काम करने में थोड़ा समय लगता है.
  • आपको हर जगह स्प्रे ले जाना पड़ता है.

शीघ्र स्खलन क्रीम

शीघ्र स्खलन क्रीम स्प्रे की तरह ही काम करती है - इसलिए इन दोनों में से किसी एक का चुनाव करना आपके ऊपर है कि आप किस का उपयोग करना पसंद करते हैं. हालांकि क्रीम का ट्यूब स्प्रे बोतलों की तुलना में थोड़ा बड़ा होता है.
क्रीम का उपयोग कैसे करें?
  • अपने लिंग पर थोड़ी (टी स्पून) मात्रा में क्रीम को निकालें.
  • अपने लिंग पर क्रीम को रगड़ें.
  • कुछ मिनट प्रतीक्षा करें और क्रीम को अपना काम करने दें.
शीघ्र स्खलन क्रीम के फ़ायदे नुकसान
फ़ायदे:
  • बहुत अच्छी सफलता दर.
  • लंबे समय तक चलने वाला कड़ापन.
नुकसान:
  • इसमें कुछ मिनट लगते हैं इसका असर दिखाने में.
  • आपको ट्यूब को हर जगह ले जाना पड़ता है.

शीघ्र स्खलन क्या है?

सीधे शब्दों में कहें तो शीघ्र स्खलन तब होता है जब आप यौन संभोग शुरू करने के तुरंत बाद या फिर फोरप्ले में ही पानी छोड़ देते हैं. यह अनियंत्रित होता है और इसके परिणामस्वरूप दोनों ही साथी असंतुष्ट रह जाते हैं. आज के समय में शीघ्र स्खलन आपकी सोच से कहीं अधिक आम है.
एक अमेरिकी सर्वेक्षण के अनुसार एक आदमी स्खलन से पहले औसतन ७ मिनट २० सेकंड का समय लेता है वहीँ शीघ्र स्खलन से पीड़ित लोगों में स्खलन का औसत समय १ मिनट ५० सेकंड था.

खुद से पूछें:

  • क्या लिंग को योनि में डालने के २ मिनट के भीतर मेरा पानी निकल जाता है?
  • क्या आपके साथी को कभी भी आपसे पहले चरमोत्कर्ष की प्राप्ति नहीं होती है?
  • क्या पानी निकल जाने के बाद में भी आप निष्क्रिय और निराश महसूस करते हैं?
यदि इन सभी सवालों में से अधिकांश का जवाब हाँ है, तो आप शायद शीघ्र स्खलन की समस्या से पीड़ित हैं. खैर, अक्सर शीघ्र स्खलन की समस्या को ऐसी चीज के रूप में खारिज कर दिया जाता है जो बहुत ही कम महत्व की होती है और जिसे आवश्यक रूप से चिकित्सकीय सहायता की आवश्यकता नहीं होती है- इसलिए मैं आपको बताना चाहता हूँ कि आपकी यह सोच बहुत ही गलत हैं. शीघ्र स्खलन कोई ऐसी चीज़ नहीं है जो रातोंरात गायब हो जाये; इसे देखभाल की ज़रूरत होती है, और अच्छी खबर यह है कि अगर सही से देखभाल की जाए तो समय के साथ यह ठीक भी हो सकता है.
अध्ययनों (अमेरिकन यूरोलॉजिकल एसोसिएशन में हुए अध्ययन) का कहना है कि कम से कम ३०% से अधिक पुरुषों ने अपने जीवन में किसी न किसी समय शीघ्र स्खलन की समस्या का सामना किया है. हो सकता है कि शीघ्र स्खलन की समस्या आपको कोई बड़ी समस्या न लगे, लेकिन यह आपके और आपके साथी के बीच विवाद का कारण बन सकती है जिससे आप अपनी पत्नी के साथ-साथ थकान और यौन निराशा से घिर जाते हैं. अधिक जानने के लिए पढ़े.

क्यों कुछ पुरुष शीघ्र स्खलन की समस्या से जूझते हैं?

कुछ मनोवैज्ञानिक कारक जो शीघ्र स्खलन में योगदान दे सकते हैं:
  • बचपन में यौन शोषण
  • कंडीशनिंग
  • शारीरिक छवि का अच्छा न होना
  • तनाव
  • चिंता
  • शीघ्र स्खलन के बारे में चिंता करना
  • अपने साथी को संतुष्ट न कर पाने में खुद को दोषी महसूस करना

अन्य मुद्दे जो इसमें गहरी भूमिका निभाते हैं:

रिश्ते की समस्याएं: यदि पहले अन्य साथियों के साथ यौन संभोग में आपका प्रदर्शन संतोषजनक रहा है और आपके वर्तमान साथी के साथ समस्याएं आ रही हैं, तो आपको इस संभावना को ध्यान में रखना चाहिए कि हो सकता है कि वर्तमान साथी के साथ होने वाली पारस्परिक समस्याओं के चलते आपको शीघ्र स्खलन की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. उन समस्याओं को सुधारने की कोशिश करें.
कड़ेपन की समस्या: यदि आप कड़ेपन की समस्या से पीड़ित हैं, जिसका अर्थ है कि आपके लिंग को कड़ा होने में समस्याओं का सामना करना पड़ता है, तो ऐसे में आपके शीघ्र स्खलन की समस्या कड़ेपन की समस्या के चलते भी हो सकती है. मदद के लिए किसी पेशेवर डॉक्टर की सलाह लें.
तनाव: यदि आपको बहुत काम करना पड़ता है, या फिर आपको साथी के साथ समस्याएं हैं या किसी चीज़ के बारे में लगातार तनावग्रस्त हैं, तो ये सभी कारक शीघ्र स्खलन की समस्या में भूमिका निभा सकते हैं. तनाव के चलते कोई भी व्यक्ति यौन गतिविधियों का पूरी तरह से आनंद नहीं ले पाता है.
तंत्रिका तंत्र में चोट: यदि आप किसी भी ऐसी दुर्घटना के शिकार हुए हैं जिससे आपकी रीढ़ या तंत्रिका तंत्र में अच्छी खासी चोट आयी है, तो शीघ्र स्खलन की समस्या में यह एक बहुत ही व्यवहार्य कारण भी हो सकता है और ऐसे में जांच बहुत ही आवश्यक होती है.
दवाओं के दुष्प्रभाव: यदि आप किसी भी दवा का सेवन रहे हैं, तो यह आपकी स्खलन को नियंत्रित करने वाली क्षमता में हस्तक्षेप कर सकती है.
शराब: यदि आप अक्सर शराब पीते हैं, तो आपकी यह आदत आपके शीघ्र स्खलन की समस्या का कारण हो सकती है. इसलिए अनुशंसा की जाती है कि बेहतर यौन जीवन के लिए आप शराब का सेवन कम कर दें.

शीघ्र स्खलन के कारण रिश्तों की, मनोवैज्ञानिक समस्याएं

यह सच है - शीघ्र स्खलन से आपका यौन जीवन और उससे आपका रिश्ता प्रभावित हो सकता है. ७९% महिलाओं ने कहा कि जब वे किसी शीघ्र स्खलन की समस्या से पीड़ित साथी के साथ होती हैं तो वे लो सेक्स ड्राइव से पीड़ित हो जाती हैं और असंतुष्ट महसूस करती हैं. बहुत सी महिलाओं ने यह भी कहा कि सेक्स का जल्दी खत्म हो जाना असली मुद्दा नहीं था, लेकिन पुरुष साथी द्वारा दिखायी जाने वाली आनंद की भावना से उन्हें गुस्से आया.
पार्टनर्स ने अक्सर इस बात की भी शिकायत की कि उनके साथी अंतरंगता और ऑर्गैज़म को महत्व देने के बजाए लंबी अवधि तक टिके रहने पर ध्यान केंद्रित करते हैं. दिलचस्प बात यह है कि शीघ्र स्खलन की समस्या अक्सर संबंधों को भी प्रभावित करती है. ४०% महिलाओं ने महसूस किया कि वे ऐसे व्यक्ति के साथ रिश्ते में खुश होंगी जो शीघ्र स्खलन की समस्या से पीड़ित नहीं है. साक्षात्कार में आये लोगों में से लगभग २०% लोगों ने कहा कि शीघ्र स्खलन की समस्या उनके रिश्तों को गंभीर रूप से खराब कर देगी.
खैर, यह बहुत ही निराशाजनक होता है जब पुरुष साथी का पानी महिला साथी के पहले ही निकल जाता है. हालांकि, अगर कभी-कभी ऐसा होता है तो संभव है कि आपका साथी थोड़ा उत्साहित हो गया हो, लेकिन अगर यह अक्सर होता है, तो आप उसे डॉक्टर से मिलने की सलाह दे सकते हैं, क्योंकि संभवतः वह शीघ्र स्खलन की समस्या से पीड़ित है.

शीघ्र स्खलन से जुड़े हुए मिथक

शीघ्र स्खलन स्वयं में बहुत ही जटिल समस्या है और अधिकांश लोग इसे अच्छी तरह से समझ नहीं पाते हैं, और इसी वजह से इस समस्या से जुड़े मिथकों की संख्या लगातार बढती जा रही है! आइए शीघ्र स्खलन की समस्या से जुड़े कुछ आम मिथकों पर चर्चा करें और उन्हें बेहतर तरीके से समझकर इनका पर्दाफाश करें जिससे इसका इलाज हो सके.
. शीघ्र स्खलन केवल युवा पुरुषों को होता है.
गलत! शीघ्र स्खलन की समस्या किसी भी आयु वर्ग के लोगों को हो सकती है. यद्यपि जैसे-जैसे आपकी उम्र बढती है वैसे-वैसे स्वाभाविक रूप से आप बेहतर हो जाते हैं क्योंकि आपको पता चल जाता है कि किस तरह की उत्तेजना पर आपका शरीर कैसी प्रतिक्रिया देता है, शीघ्र स्खलन की समस्या किसी विशेष आयु वर्ग में नहीं होती है.
. शीघ्र स्खलन का कारण केवल मनोवैज्ञानिक है.
मनोवैज्ञानिक कारण शीघ्र स्खलन की समस्या के काफ़ी वैध कारण हैं, लेकिन वे एकमात्र कारण नहीं हैं जिनसे शीघ्र स्खलन की समस्या होती है. चिकित्सकीय अध्ययनों से पता चला है कि शीघ्र स्खलन न्यूरोबायोलॉजिकल कारणों के चलते होता है जैसे लिंग की संवेदनशीलता का औसत से अधिक होना, या फिर मनोवैज्ञानिक कारणों के चलते सेरोटोनिन के स्तर में कमी का होना.
. जिन पुरुषों का खतना नहीं हुआ होता है वे शीघ्र स्खलन की समस्या से अधिक पीड़ित होते हैं
खतना का शीघ्र स्खलन से कोई भी संबंध नहीं है. वास्तव में अमेरिका जैसे देश (जिनमें खतना की दर बहुत ही कम होती है) वहीं उत्तरी यूरोप के देशों में खतना की दर अधिक होती है.

शीघ्र स्खलन के लक्षण

खैर, केवल आप और केवल आप ही इस बात को निर्धारित कर सकते हैं कि क्या आप शीघ्र स्खलन से पीड़ित हैं या नहीं. सबसे मुख्य और महत्वपूर्ण लक्षण तो यही होता है कि लिंग को योनि में डालने के बाद आप स्खलन को रोक पाने में असमर्थ होते हैं. हालांकि, शीघ्र स्खलन के कुछ मामले केवल यौन संभोग से पारस्परिक रूप से अनन्य नहीं हैं. हो सकता है कि हस्तमैथुन करते समय भी आप स्खलन को नियंत्रित न कर पायें. यदि आप स्खलन को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, तो ऐसे में किसी चिकित्सकीय पेशेवर से परामर्श लेना चाहिए.

शीघ्र स्खलन कई प्रकार का हो सकता है:

. प्राथमिक या पूरे जीवन चलने वाला शीघ्र स्खलन
इस प्रकार का शीघ्र स्खलन लगभग हर बार यौन संबंध बनाने के समय होता है, जिसमें शायद ही कोई अपवाद होता हो. यदि आपको लगता है कि आपका मामला कुछ ऐसा ही है तो औपचारिक निदान प्राप्त करने के लिए किसी यूरोलॉजिस्ट से परामर्श लें. इस मामले में अधिकतर चिकित्सक एक टॉपिकल मलहम की सिफारिश करेंगे जो कि आसानी से उपलब्ध होता है.
. अक्वायर्ड या माध्यमिक शीघ्र स्खलन
यह तब विकसित होता है जब आप पहले कई बार बिना किसी समस्या के सम्भोग कर चुके होते हैं. यह स्थिति थायराइड या कड़ेपन की अक्षमता जैसी शारीरिक समस्याओं के चलते या फिर अंतर्निहित मनोवैज्ञानिक कारण से भी हो सकती है. यह बहुत ही महत्वपूर्ण है कि आप जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी इलाज के लिए किसी चिकित्सक से परामर्श ले लें.
. परिवर्तनीय शीघ्र स्खलन
कुछ पुरुष कभी-कभी स्खलन का अनुभव कर सकते हैं और शेष समय वे ठीक रहते हैं. यह बहुत ही सामान्य है, सेक्स में बहुत सारे कारक ऐसी उत्तेजना को जन्म दे सकते हैं जिनसे आपका स्खलन जल्दी हो सकता है या फिर यह भी हो सकता है कि एक लंबे अंतराल के बाद आप सेक्स कर रहे हो. ऐसा होने पर चिंतित होने वाली बात नहीं है.
. व्यक्तिपरक समयपूर्व स्खलन
कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि उनके स्खलन का समय सामान्य है, लेकिन वे काफी चिंतित रहते हैं कि वे अपने साथी को यौन संतोष दे पायेंगे. लोगों को यह समझना चाहिए कि सामान्य स्खलन समय पांच से सात मिनट के बीच कहीं भी हो सकता है.
यदि आपका पानी संभोग के दौरान आपकी इच्छा से पहले निकल जाए, तो ऐसे में आपको किसी डॉक्टर से मिलना चाहिए. हालांकि यह एक आम समस्या है, लेकिन ज्यादातर लोग इसके बारे में शर्मिंदगी महसूस करते हैं क्योंकि इस समस्या को सामाजिक प्रतिष्ठा से जोड़ के देखा जाता है. खैर, इन फ़ालतू की चीज़ों को अनदेखा करें और अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें क्योंकि इस समस्या का इलाज आसानी से संभव है.

शीघ्र स्खलन के उपचार के विकल्प

यहां आपके लिए कुछ अच्छी खबरें हैं- बाजार में कई उपाय मौज़ूद हैं जो इस समस्या को दूर करने में आपकी सहायता करेंगे इसलिए यदि कोई उपाय आपके लिए काम नहीं करता है, तो आप हमेशा किसी अन्य तरीके को आज़मा सकते हैं. आइए कुछ तरीकों पर विचार करें.
किसी भी बीमारी का इलाज करने का पहला कदम यह होता है कि आप स्वीकार करें कि आपको कोई समस्या है और उस समस्या में इलाज की आवश्यकता है. आपको याद रखना चाहिए कि कोई भी इस समस्या से पीड़ित हो सकता है लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि आप अपने आप को या अपने साथी को दोष न दें बल्कि इस समस्या को सही करने वाले तरीकों की तलाश करें.
वार्तालाप करें: भागने की बजाए अपने साथी के साथ इन समस्याओं पर खुलकर चर्चा करें. कभी-कभी चीजों के बारे में खुलकर बात करने से आपकी चिंता और भय गायब हो सकता है. आपका साथी यौन अंतरंगता में आये बदलावों से परेशान हो सकता है क्योंकि ये समस्याएं दो लोगों के बीच विवाद पैदा कर सकती हैं.
बात करना पहला कदम है - यदि आवश्यक हो, तो आप अपने लाभ के लिए रिलेशनशिप काउंसलिंग या सेक्स थेरेपी पर भी विचार कर सकते हैं.
थेरेपी की तलाश : पेशेवर स्वास्थ्य चिकित्सक से मिली सहायता से आप अंतर्निहित मुद्दों को खोज सकते हैं, जो आपकी समस्याओं का कारण हो सकते हैं. किसी मनोवैज्ञानिक से बात करना भी सहायक साबित हो सकता है.
मेंटल हेल्थ प्रोवाइडर के साथ सत्र लेने पर आपकी प्रदर्शन की चिंता में कमी आ सकती है और आपको शीघ्र स्खलन की समस्या से मुकाबला करने के बेहतर तरीके खोजने में मदद मिल सकती है. आप इस तकनीक का उपयोग ड्रग थेरेपी के संयोजन में कर सकते हैं ताकि इससे अधिक लाभ प्राप्त हो सके.

अन्य कार्य जिनसे शीघ्र स्खलन की समस्या में मदद मिल सकती है

१. व्यवहार तकनीकें
कभी-कभी सबसे सरल उपाय भी आपकी मदद कर सकते हैं. उदाहरण के लिए, सेक्स से कुछ घंटे पहले हस्तमैथुन कर लें ताकि सेक्स के दौरान आप आसानी से लंबे समय तक स्खलन को रोक सकें. आप सम्भोग के दौरान यौन संभोग करने के बजाए फोरप्ले पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास कर सकते हैं ताकि आप पर प्रदर्शन करने का दबाव कम हो सके. साथी के साथ वार्तालाप करना बहुत ही अहम है.
. पेल्विक फ्लोर अभ्यास
कमजोर श्रोणि मांसपेशियां आपके बेडरूम के प्रदर्शन की क्षमता खराब कर सकती हैं, जिससे आपको आपकी इच्छा के अनुसार लाभ प्राप्त नहीं हो पाता है. आप जल्दी से श्रोणि अभ्यास करके इस गलती को सुधार सकते हैं. उदाहरण के लिए- अपनी मांसपेशी को खोजने के लिए पेशाब करने के दौरान प्रवाह को रोकने का प्रयास करें. कुछ सेकंड के लिए संकुचन बनाए रखें अपनी तकनीक में सुधार लायें करें और इसे लगातार कुछ बार करें. इसे खड़े होकर करें, बैठ कर करें, सोने के समय करें या फिर चलने के समय भी करें. इसे जितनी बार चाहें उतनी बार करें, और जल्द ही आपको परिणाम दिखाई पड़ने लगेंगे.
. कंडोम
कंडोम अक्सर बाधा के रूप में कार्य करते हैं जिससे आप प्रभावी रूप से लिंग की उत्तेजना को कम कर सकते हैं जिससे आपके स्खलन में देरी हो सकती है. कुछ कंडोम में उत्तेजना को कम करने वाले या चरमोत्कर्ष में देरी करने वाले तत्व भी मौजूद होते हैं. ' इन कंडोम में बेंज़ोकेन या लिडोकेन जैसे सामान्य एनेस्थेटिक्स मौज़ूद होते हैं जिनसे स्खलन में देरी होती है और आप लंबे समय तक सेक्स कर पाते हैं.
. दवाएं
बाजार में दो प्रकार की दवाएं उपलब्ध हैं - टॉपिकल और ओरल. कौन सी दवा आपके लिए सबसे उपयुक्त हैं यह जानने के लिए आगे पढ़ें. यदि आप फिर भी निश्चय नहीं कर पा रहे हैं, तो गहन जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें.
. टॉपिकल दवाएं
इन क्रीम या स्प्रे में शीघ्र स्खलन का इलाज करने के लिए बेंज़ोकेन, लिडोकेन या प्रिलोकेन जैसे सामान्य सुन्न करने वाले तत्व होते हैं. आप इन टॉपिकल क्रीम या स्प्रे का उपयोग कर सकते हैं, इन्हें सेक्स से दस से पंद्रह मिनट पहले लिंग पर लगाया जाता है.
ये क्रीम लिंग की संवेदनशीलता को कम कर देती हैं जिससे आपको बिस्तर में लंबे समय तक टिके रहने में मदद मिलती है. इनमें से अधिकतर क्रीमों को बिना किसी डॉक्टर के पर्चे के आसानी से काउंटर से ख़रीदा जा सकता है. अक्सर इस तथ्य को देखते हुए भी कई लोग इनका प्रयोग करते हैं क्योंकि इनके बहुत ही कम दुष्प्रभाव होते हैं और इनके परिणाम भी तुरंत ही दिखाई पड़ते हैं.
. ओरल दवाएं
ऐसी कई दवाएं हैं जो स्खलन में देरी में मदद करती हैं, हालांकि उनका मूल उद्देश्य कुछ और भी हो सकता है लेकिन वे स्खलन को देर तक रोकने में भी मदगार हो सकती हैं.
. एंटीडिप्रेसेंट
कुछ एंटीड्रिप्रेसेंट्स जिनमें सेरोटोनिन रीपटेक इनहिबिटर (एसएसआरआई) होते हैं, जैसे एस्किटोप्राम (लेक्साप्रो), सर्ट्रालीन (ज़ोलॉफ्ट), पेरॉक्सेटिन (पक्सिल) या फ्लूक्साइटीन (प्रोजैक, सराफेम) इनका एक अन्य प्रभाव भी होता है जिसके चलते स्खलन में देरी होती है; इसलिए उन्हें कभी-कभी शीघ्र स्खलन के इलाज में भी इनका उपयोग किया जाता है.
. दर्दनाशक
ट्रामडोल एक ऐसी दवा है जिसका उपयोग दर्द के इलाज में किया जाता है- स्खलन में देरी करना भी इसका एक प्रभाव होता है.
9. फॉस्फोडिएस्टर - इनहिबिटर
पुरुषों में कड़ेपन की अक्षमता के इलाज में प्रयोग की जाने वाली कुछ दवाओं से शीघ्र स्खलन के मामले में भी फायदा देखने को मिला है. अगर एसएसआरआई दवाओं के साथ इन दवाओं को मिलाकर सेवन किया जाये तो ये दवाएं और भी अधिक प्रभावी होती हैं. ये दवाएं केवल डॉक्टर के पुर्जे को दिखाने पर ही मिलती हैं.
अपना ख्याल रखें और इलाज करवाएं. शीघ्र स्खलन किसी डरावनी समस्या जैसा प्रतीत हो सकता है, लेकिन उचित देखभाल और उपचार की मदद से समय के साथ इस समस्या का समाधान हो जाता है. आप सभी को मेरी शुभकामनाएं!
Comments:
Comment on
reload, if the code cannot be seen
Useful articles about health and beauty in India
Hindi-health.pro © 2018