» » पानी को जल्दी निकलने से रोकने के ५ शीर्ष उपाय

पानी को जल्दी निकलने से रोकने के ५ शीर्ष उपाय

18 July 2018, Wednesday
62
0


उम्र, जाति, या सामाजिक-आर्थिक स्थिति के बावजूद, समय से पहले स्खलन की समस्या सबसे आम यौन समस्या है, जिससे लगभग ३०% पुरुष प्रभावित हैं. अच्छी बात यह है कि आप बिना किसी महंगी चिकित्सा या दवाओं के इसे सही कर सकते हैं. आपको बस इसे जानने की आवश्यकता है.

शीघ्र स्खलन क्या है?

समय से पहले स्खलन को तीव्र उत्तेजना के रूप में परिभाषित किया जाता है, जो कि बढ़ी हुई यौन उत्तेजना के बाद होता है और इसके निम्नलिखित प्रमुख लक्षण होते हैं:
  • स्खलन में बहुत कम समय लगना (अक्सर एक मिनट से भी कम)
  • स्खलन पर नियंत्रण की कमी
  • यौन असंतोष, दोनों साथियों का परेशानी और निराशा का सामना करना

इसमें कितना समय लगेगा?

१५०० से अधिक पुरुषों पर आधारित अध्ययन, जर्नल ऑफ सेक्सुअल मेडिसिन ने बताया कि समय से पहले स्खलन का समय लिंग के योनि में प्रवेश करने के बाद और स्खलन के बीच औसत १.८ मिनट का था, जो अन्य सामान्य स्खलनकर्ताओं से ७.३ मिनट कम था. पांच देशों में ५०० जोड़ों के एक और अध्ययन म प्रवेश के समय से स्खलन तक के समय को मापा गया जिसमे स्खलन का समय ३३ सेकंड से लेकर ४४ मिनट तक रहा जिससे औसत स्खलन समय लगभग ५.४ मिनट का रहा.

पीई (जल्दी पानी का निकल जाना) का कारण क्या है?

समय से पहले स्खलन (पीई) मनोवैज्ञानिक और / या शारीरिक हो सकता है. यह अत्यधिक संवेदनशील जननांग त्वचा, अति सक्रिय प्रतिक्रियाओं, चरम उत्तेजना या कम यौन गतिविधिओं के कारण भी हो सकता है. इसके अन्य कारकों में जेनेटिक्स, अपराधबोध की भावना, डर, अपने प्रदर्शन की चिंता, सूजन और / या प्रोस्टेट या मूत्रमार्ग में संक्रमण भी हो सकता है. यह समस्या शराब या अन्य मादक पदार्थों के उपयोग से भी हो सकती है. पीई आजीवन भी हो सकती है या फिर इसे कभी-कभी अन्य कारकों से प्राप्त भी किया जा सकता है. आजीवन चलने वाली पीई में बायोलॉजिकल घटकों का हाथ होता है. प्राप्त हुई पीई में बायोलॉजिकल घटकों के हाथ के साथ-साथ, विभिन्न परिस्थितियों में होने वाला तनाव, मनोवैज्ञानिक समस्या या फिर लिंग में सूजन / संक्रमण भी ज़िम्मेदार होते हैं. पीई कभी-कभी कड़े होने की समस्या (ईडी) से संबंधित हो सकती है, जिसमें कड़ेपन की कमी से जल्दी ही स्खलन हो जाता है. अक्सर लोग यौन संभोग में ऑर्गैज़म को केंद्र बिंदु के रूप में देखने लगते हैं, जिससे पुरुषों के मन में प्रदर्शन की चिंता को लेकर तनाव बढ़ाने लगता है और यह भी इस समस्या की शुरुआत कर सकता है. एक बार जल्दी पानी निकल जाने के बाद पुरुष खुद के प्रदर्शन को लेकर डरने लगते हैं, इस तनाव और मानसिक पूर्वाग्रह से वास्तव में अवांछित तीव्र स्खलन की समस्या और भी अधिक प्रबल हो सकती है, और अगर एक बार आपके दिमाग में इस समस्या ने घर बना लिया तो उसके बाद इसके चक्रव्यूह से निकल पाना बहुत ही मुश्किल होता है.

जल्दी पानी निकलने की समस्या से कैसे छुटकारा पायें

दवा या किसी महंगी चिकित्सा के बिना समय से पहले स्खलन की समस्या को कम करने के निम्नलिखित तरीक़े सबसे अधिक प्रचलन में हैं.

१. पेलिक फ्लोर मसल्स ट्रेनिंग

अपनी श्रोणि की मांसपेशियों को सुदृढ़ करना समय से पहले स्खलन को रोकने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है. श्रोणि की मांसपेशियां, जो कि लिंग को नियंत्रित करने और मदद करने में सहायक होती हैं, अगर इन मसल्स का स्खलन के पहले सक्रिय रूप से प्रयोग किया जाये तो समय से पहले की स्खलन की समस्या को खत्म किया जा सकता है. ज्यादातर पुरुषों की ये मांसपेशियां कमजोर होती हैं और बढती उम्र के साथ और भी अधिक कमजोर होती जाती हैं, जिससे समय से पहले स्खलन की संभावना बढ़ जाती है. हाल के एक अध्ययन में पता चला है कि पेल्विक मांसपेशियों का व्यायाम, स्खलन की दवा की तुलना में अधिक प्रभावी होता है.


२. गति को धीमा रखें

इस तकनीक में आपको झटके देने की गति को धीमा करना होगा और "चरमोत्कर्ष के पास के बिंदु पर" पहुचने से पहले ही लिंग के कोण और गहराई को बदलने रहना होगा. जब आप इस विधि को श्रोणि की मांसपेशियों के संयोजन में करेंगे तो यह विधि बहुत ही प्रभावी होती है.

३. रोको-फिर से शुरू करो विधि

यदि समय से पहले के स्खलन को रोकने में गति को धीमा करना पर्याप्त साबित नहीं हो रहा है, तो अपमानजनक "स्खलन" से बचने के लिए पूरी तरह से ही झटके देना बंद कर दें और लिंग को योनि में ही डाले रखें. एक बार स्खलन की उत्तेजना खत्म हो जाए उसके बाद आप फिर से श्रोणि क्षेत्र में झटके मारना शुरू कर सकते हैं. एक बार जब आप झटके मारना रोक देते हैं उसके बाद श्रोणि मांसपेशियों के प्रयोग से भी उत्तेजना को कम करने में मदद मिलती है.

४. स्कवीज तकनीक

मास्टर्स और जॉनसन द्वारा इस विधि को खोजा गया, जैसे ही पुरुष को महसूस होता है कि स्खलन होने ही वाला है उसी समय लिंग के सिर को निचोड़ कर दबा लिया जाता है और इसे तब तक दबाये रखा जाता है जब तक कि उत्तेजना खत्म नहीं हो जाती है, उसके बाद संभोग फिर से शुरू किया जा सकता है. हालांकि इसके प्रभावी होने के बाबजूद, इस विधि में सम्भोग में बाधा उत्पन्न होती है, जो कि दुष्कर होती है और इसमें आपको एक बहुत ही अच्छे साथी की आवश्यकता होती है.

५. किसी विशेषज्ञ से बात करें

चूंकि समय से पहले होने वाले स्खलन की समस्या मनोवैज्ञानिक भी हो सकती है, इसलिए किसी यौन चिकित्सक से बात करना बहुत ही लाभप्रद हो सकता है. दोस्तों इस बात का ध्यान रखें कि यौन स्वास्थ्य के बारे में बात करने में कुछ भी गलत नहीं है - वास्तव में, हमें इसका और अधिक ध्यान रखना चाहिए!
Comments:
Comment on
reload, if the code cannot be seen
Useful articles about health and beauty in India
Hindi-health.pro © 2018